मंगल मूरति, मारुति नंदन सकल अमंगल मूल निकंदन

मंगल मूरति, मारुति नंदनसकल अमंगल मूल निकंदन पवन तनय, संतन हितकारी हृदय विराजत अवध बिहारीमंगल मूरति, मारुति नंदनमात पिता, गुरु, गणपति, सारदशिवा समेत शंभु, शुक, नारदमंगल मूरति, मारुति नंदनचरण कमल बंदौ सब काहू देहु राम पद नेह निबाहूमंगल मूरति, मारुति

20 November, 2018






Ram bhajan, Sooraj ki garmi se jalte huye tan ko mil jaaye taruvar ki chhayaa

ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है, मैं जब से शरण तेरी आया, मेरे राम सूरज की गर्मी से जलते हुये तन को मिल जाये तरुवर की छाया शीतल बने आग चंदन के जैसी राघव कृपा हो जो तेरी उजियाली पूनम की हो जायें रातें जो थी अमावस अंधेरी युग युग से प्यासी मरु

22 September, 2010

Music for the soul, Too naa jaane aas paas hai Khudaa

Lyrics of song: Too naa jaane aas paas hai Khudaa धुंधला जायें जो मंज़िले, इक पल को तू नज़र झुका झुक जाये सर जहां वहीं, मिलता है रब का रास्ता तेरी किस्मत तू बदल दे, रख हिम्मत, बस चल दे तेरे साथ ही मेरे कदमों के हैं निशां तू ना जाने आस

22 September, 2010





Management bytes by Swami Tejomayananda