Anandway: Blog

Roadmaps to joy!

Bhojpuri song by Malini Awasthi, Reliya Bairan

रेलिया बैरन पिया को लिये जाय रे, रेलिया बैरन

जौंन टिकस्वा से बलमा मोरे जंइहे, पानी बरसे टिकस गल जाये रे, रेलिया बैरन…

जौंन सहरिया को सैया मोरे जंइहे, आग लग जैहे, सहर जल जाये रे, रेलिया बैरन…

जौन साहेबवा के पिया मोरे नौकर, लग जाये गोली, साहब मर जाये रे, रेलिया बैरन…

जौन सौतनिया पे पिया मोरे रीझे, खाय धतूरा सवत बौराय रे, रेलिया बैरन…

रेलिया बैरन पिया को लिये जाय रे, रेलिया बैरन…

~ संकलन कर्ता - पडित राम त्रिपाठी, उत्तर प्रदेश

Malini Awasthi is a student of Srimati Girija Devi, and specialises in folk music from Uttar Pradesh and Bihar.

रेलिया बैरन पिया को लिये जाय रे, this song is a catharsis for millions of migrants from villages and small towns of Uttar Pradesh, Madhya Pradesh and Bihar. The husband or beloved leaves home to earn a livelihood and is missed by his family back home.

Vrindavan bhajan for Sri Radha Rani

मेरे गिनियो ना अपराध, लाड़ली श्री राधे

मेरे गिनियो ना अपराध किशोरी श्री राधे

१. जो तुम मेरे अवगुन देखो, तो नाही कोई गुण हिसाब, लाड़ली श्री राधे

२. अष्ट सखी और कोटि गोपिन में, उनकी दासी को दासी मैं, लाड़ली श्री राधे

    वहीं लिख लीजो मेरो नाम, लाड़ली श्री राधे

३. माना कि मैं पतित बहुत हूं, हौ पतित पावन तेरो नाम, लाड़ली श्री राधे

    किशोरी मेरी श्री राधे, लाड़ली श्री राधे, स्वामिनी श्री राधे

Feeling grateful for the oral traditions of India :) My heritage.

Braj rasiya, Holi song from Vrindavan

हरा रंग डारो, गुलाबी रंग डारो, बसंती बचा के

१. तुम तो कान्हा बड़े नटखट हो, मेरा गजरा बचा के, मेरी बिंदिया बचा के

हरा रंग डारो…

२. तुम तो कान्हा कहा नहीं मानो, मेरी चूड़ियां बचा के, मेरी मेंहदी बचा के

हरा रंग डारो…

३. तुम तो कान्हा बड़े रंग रसिया, मेरा हरवा बचा के, मेरी चुनरी बचा के

हरा रंग डारो…

४. तुम तो कान्हा बड़े हरजाई, मेरी पायल बचा के, मेरा बिछुआ बचा के

हरा रंग डारो

Holi rasiya, Mat maaro nainan ki chot rasiya

मत मारो नैनन की चोट, रसिया…

होरी में मोहे लग जायेगी

१. मैं तो नारि पराये घर की, पराये घर की, पराये घर की

तुम तो बड़े वो हो, हो रसिया, होरी में मोहे लग जायेगी

२. अब की बार बचाय गयी मैं, बचाय गयी मैं, बचाय गयी मैं

कर घंघटे की ओट, रसिया, होरी में मोहे लग जायेगी

३. मैं तो भरी लाज की मारी, लाज की मारी, हां लाज की मारी

तुम हो बड़े चितचोर, रसिया, होरी में मोहे लग जायेगी

४. रसिक गोवंद वहीं जाय खेलो, वहीं जाय खेलो, वहीं जाय खेलो

जहां तुम्हारी जोड़, रसिया, होरी में मोहे लग जायेगी

Playful Govind, go and play with your equal (Radha).

Tag Cloud