Rangi Sari, folk song from Uttar Pradesh by Malini Awasthi with lyrics

रंगी सारी गुलाबी चुनरिया रे, मोहे मारे नजरिया सांवरिया रे

पहनी सारी गुलाबी चुनरिया, मोहे मारे नजरिया सांवरिया रे

जावो जी जावो, करो ना बतियां

अजी बाली है मोरी उमरिया रे, मोहे मारे नजरिया सांवरिया रे, रंगी सारी…

बीत चुकी है सारी रतिया, अभी लौटे नहीं हैं सांवरिया रे, मोहे मारे…




blog comments powered by Disqus



Why do we perform Shraadh for ancestors