Anandway: Blog

Roadmaps to joy!

Hindola song from Vrindavan - ghir aayi kaari badariya

This rain song from Vrindavan is sung by Anisha Sharma to celebrate raag seva in Braj culture. Raag seva is a musical offering to Sri Jugal Sarkar Radha Krishna.

घिर आई कारी बदरिया, बरसे आधी रात,

जमुना किनारे पड़ो झूलो, झूले राधे-श्याम ।

 

अपना तो ओढ़े कान्हा कारी कामरिया,

राधा जी ओढ़े चुनरिया, चुनरी गोटेदार ।

घिर आई कारी बदरिया, बरसे आधी रात…

 

राधा के नैनन में मोटो मोटो कजरा,

कान्हा की तिरछी नजरिया, चित नैनन चुराय ।

घिर आई कारी बदरिया, बरसे आधी रात…

 

कान्हा के सिर पे मोर मुकुट है,

राधा की लाल-लाल बिंदिया, चमके आधी रात ।

घिर आई कारी बदरिया, बरसे आधी रात…

 

राधा के होठों पे लाल-लाल लाली,

कान्हा के मुख पे मुरलिया, बाजे आधी रात ।

घिर आई कारी बदरिया, बरसे आधी रात…

 

राधा के हाथों में हरी हरी चूड़ियां,

कान्हा के हाथों लकुटिया, गैया ले जाये घेराये, गैया ले आये घेराये ।

घिर आई कारी बदरिया, बरसे आधी रात…

 

कान्हा खड़ें हैं तिरछी अदा से,

राधा की बाजे पायलिया, होवे महारास ।

घिर आई कारी बदरिया, बरसे आधी रात…

जमुना किनारे पड़ो झूलो, झूले राधे-श्याम ।

blog comments powered by Disqus

Tag Cloud