Anandway: Blog

Roadmaps to joy!

गुरु मेरी पूजा Guru Govind Singh ji Shabad

जित बिठ्लावे तित ही बैठूं, जो पहरावे सोई सोई पहरूं

मेरी उनकी प्रात पुरानी, बेचे तो बिक जाऊं

गुरु मेरी पूजा, गुरु गोविंद, गुरु मेरो प्राणधन, गुरु भगवंत,

गुरु मेरा पारब्रह्म, गुरु भगवंत

१. गुरु बिन जीवन अलख अंधेरो, सर्व-पूज्य शरण गुरु तेरो

२. गुरु के दर्शन देख देख जीवां, गुरु के चरण धोय धोय पीवां

३. गुरु मेरा ज्ञान, गुरु मेरा ध्यान, गुरु गोपाल, पूरण भगवान

blog comments powered by Disqus

Tag Cloud