Anandway: Blog

Roadmaps to joy!

Punjabi Guru bhajan, mera sheesh guru charana te tikaayaa rehan de

मेरा शीष गुरु चरणा ते टिकाया रहन दे, सुंदर मूर्ति नूं हिरदय च समाया रहन दे

नित उठ के सवेरे करिये याद गुरां नूं, मन विषया विकारां तो हटाया रहन दे

मेरा शीष गुरु चरणा ते टिकाया रहन दे, सुंदर मूर्ति नूं हिरदय च समाया रहन दे

दुनिया भोलिये नी, की जाणें प्रेम रस नूं, मैनूं प्रेम दा अनोखा रस आया रहन दे

डिगदे हंजुआं दे नाल धोवां चरण गुरां दे, मेरियां अखियां दा चशमा बहाया रहन दे

मेरी ज़िंदगी बसंत दी बहार हो गई, मेरे हिरदय दे फुल्लां नूं चढ़ाया रहन दे

उस दाता दे दर ते उमंग आ गई, उसदे दर उत्ते पलड़ा बिछाया रहन दे

A song heard from my grandmother, learnt by my mother and now me - A timeless folk song from Punjab.

Krishna bhajan, Mukut varo kunjan me sataki gayo re

मुकुट वारो कुन्जन में सटकि गयो रे

जनम को रारी, है नाम बनवारी

हमारो जिया वही में अटकि गयो रे

कदम की छैया चरावे नित गैया

हमारो जिया वही में अटकि गयो रे

मुकुट वारो कुन्जन में सटकि गयो रे

हमारी गली आयो, तनिक मुस्कायो

हमारो जिया वही में अटकि गयो रे

मुकुट वारो कुन्जन में सटकि गयो रे

ब्रज की डगर पे बजावे जो बांसुरिया

हमारो जिया वही में अटकि गयो रे

मुकुट वारो कुन्जन में सटकि गयो रे

Meaning of Krishna bhajan

Krishna, who wears a crown has given me the slip in the bowers of Vrindavan. His name is Banwari, and this is how he has been playing I spy with me for many lifetimes. He is such a fighter-cock. I have lost my heart to him.

He takes cows for grazing and waits for them under the Kadamb tree. I have lost my heart to him. Krishna, who wears a crown has given me the slip in the bowers of Vrindavan.

He came to my street, and smiled. I have lost my heart to him. Krishna, who wears a crown has given me the slip in the bowers of Vrindavan.

He plays his flute and attracts me to Vrindavan. I have lost my heart to him. Krishna, who wears a crown has given me the slip in the bowers of Vrindavan.

More:

Banke Bihari arti and verses

Stories from Banke Bihari temple

Banke Bihari temple and bazaar, Photo journal

Banke bihari ji ke sawaiya/dohe

Krishna bhajan in Hindi, 2

Narayan param dayalu re, bhajo Radhe Govinda…

Krishna bhajan in Hindi, 2, Narayan param dayalu re, bhajo Radhe Govinda, नारायण परम दयालु रे, भजो राधे गोविन्दा

नारायण परम दयालु रे, भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

वृन्दावन में रास रचायो

लूट-लूट दधि माखन खायो

मोहन रास बिहारी रे

भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

नारायण परम दयालु रे, भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

इन्द्र नें ब्रज पर नेह बरसायो,

नख ऊपर गिरिराज उठायो

गोवर्धन गिरधारी रे

भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

नारायण परम दयालु रे, भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

नाग नाथ के यमुना उबारयो

मामा कंस को मार गिरायो

चक्र सुदर्श्नधारी रे

भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

नारायण परम दयालु रे, भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

चुरा चुरा कर माखन खायो

ब्रज गोपिन को नाच नचायो

माखन चोर कहायो रे

भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

नारायण परम दयालु रे, भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

भक्त सुदामा चावल लाये

तीन भुवन को भूप बनाये

ऐसे दीन-दुख-हारी रे

भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

नारायण परम दयालु रे, भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

दुर्योधन को भोग ना खायो

रूखो साग विदुर घर खायो

ऐसो प्रेम पुजारी रे

भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

नारायण परम दयालु रे, भजो राधे गोविन्दा

राधे गोविन्दा, भजो राधे गोविन्दा…

Krishna bhajan in Hindi, 1

Krishna bhajan in Hindi, 1

सुनो टेर मेरी, अहो कृष्ण प्यारे

कनक पाट खोलो, हैं द्वारे पे आये

सुना है पतितों को पावन बनाते

सुना है कि दुखियों को हृदय से लगाते

यही आस ले दासी द्वारे पे आई

सुनो टेर मेरी, अहो कृष्ण प्यारे

कनक पाट खोलो, हैं द्वारे पे आये

सुना हमनें मुरली की है तान प्यारी

सुना है कि मोहनी मूरत तुम्हारी

दरश दीजिये हमको बांके बिहारी

सुनो टेर मेरी, अहो कृष्ण प्यारे

कनक पाट खोलो, हैं द्वारे पे आये

सुना है कि गोपिन से माखन चुराते

सुना है कि नित बन में रास रचाते

यही ढूंढते हैं ये लोचन हमारे

सुनो टेर मेरी, अहो कृष्ण प्यारे

कनक पाट खोलो, हैं द्वारे पे आये

This is a bhajan my mother sings.

Krishna bhajan in Punjabi,1

Krishna bhajan in Punjabi

श्यामा फड़ेया पितांबर तेरा, कित्थे नस के जावेगा

हुन मैं आन डिगी दर तेरे, दर्शन कदों दिखावेगा

छडेया तेरे लई ज़माना, तूं ना लांवी कोई बहाना

असां छड के न‍इयों जाना, जद तक खैर ना पावेगा

श्यामा फड़ेया पितांबर तेरा, कित्थे नस के जावेगा

हुन मैं आन डिगी दर तेरे, दर्शन कदों दिखावेगा

तेरे प्रेम अन्दर पई चीका, मैनूं लोकी लांदे लीका

मैनूं तेरियां रहन उडीकां केड़े वेले आवेंगा

श्यामा फड़ेया पितांबर तेरा, कित्थे नस के जावेगा

हुन मैं आन डिगी दर तेरे, दर्शन कदों दिखावेगा

My mother sings this bhajan for Krishna :-)

Tag Cloud