Anandway: Blog

Roadmaps to joy!

Krishna bhajan, Natwar Nagar Nanda Bhajo re man Govinda

Krishna bhajan by unknown artist

नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा

सब देवों में देव बड़े हैं, श्याम बिहारी नंदा

भजो रे मन गोविंदा

नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा

सब सखियों में राधा बड़ी हैं, जैसे तारों में चंदा More...

Aap ko dekh kar dekhta rah gaya, Ghazal by Jagjit Singh, video and lyrics

Ghazal lyrics by Wasim Barelavi

आपको देख कर देखता रह गया, क्या कहूं, और कहने को क्या रह गया

आते आते मेरा नाम सा रह गया, उसके होंठों पे कुछ कांपता रह गया

वो मेरे सामने ही गया, और मैं रास्ते की तरह देखता रह गया

झूठ वाले कहीं से कहीं बढ़ गये, और मैं था कि सच बोलता रह गया

Raga Bhimpalasi – Ja Ja Re Apane Mandirwa, by Ashwini Bhide Deshpande

Hindi Lyrics for this song in Raga Bhimpalasi by eminent Classical Indian singer Ashwini Bhide Deshpande

जा जा रे अपने मंदिरवा

सुन पावे मोरी सास ननदिया

सुनहु सदारत तुमको चाहत है

क्या तुम हमको ठगन दिया

जा जा रे अपने मंदिरवा

सुन पावे मोरी सास ननदिया

Radhe Albeli Sarkar bhajan by Gaurav Krishna Goswami of Vrindavan

Bhajan Lyrics

कर दो, कर दो बेड़ा पार, राधे अलबेली सरकार

राधे अलबेली सरकार…

बार बार श्री राधे, हमको वृंदावन में बुलाना

आप भी दर्शन देना, बिहारी जी से भी मिलवाना

यही है बिनती बारंबार More...

और राग सब बने बराती, दूल्हा राग बसंत, Raga Basant by Pandit Jasraj

और राग सब बने बराती, दूल्हा राग बसंत

मदन महोत्सव आज सखी री अब, विदा भयो हेमंत

सहचर गान करत ऊंचे स्वर, कोकिल बोले असंख्य

गावत नारी पंचम स्वर ऊंचे स्वर, ऐसो गीत अनंत

कृष्ण दास स्वामिन बड़भागिन, मिल्यो है भावतो…

Raag Multani by Pandit Jasraj, Sakhi Kanha bin kachhu soojhat naahi


सखी, कान्हा बिन कछु सूझत नाहीं…

कित वे मुरली, कित कदम्ब की छैया…

Says Radha Rani to her companions, ‘Without Kanha, I am listless… Where is his flute, where is the shade of the Kadamb tree where he played upon the flute?’

कित वे पीत वसन, कित वे त्रिभंगी, नयन कछु ना दीखत सखी

Where are his yellow garments. Where is Krishna, who stands in a tribhangi pose. I don’t see him. More...

Tag Cloud