Anandway: Blog

Roadmaps to joy!

Music for the soul, Too naa jaane aas paas hai Khudaa

God sings…

Lyrics of song: Too naa jaane aas paas hai Khudaa

धुंधला जायें जो मंज़िले, इक पल को तू  नज़र झुका

झुक जाये सर जहां वहीं, मिलता है रब का रास्ता

तेरी किस्मत तू बदल दे, रख हिम्मत, बस चल दे

तेरे साथ ही मेरे कदमों के हैं निशां

तू ना जाने आस पास है ख़ुदा… More...

जय एकादशी तुम्हारी, Vaishnav bhajan lyrics for Ekadashi vrat

A bhajan is a simple way of increasing in devotion to God. The rich Indian oral tradition was designed to embed joyous spirituality in the masses.

This is a beautiful Vaishnav bhajan to honour and remember the names and significance of different Ekadashi days in the calendar.

सब काल ईश की प्यारी, जय एकादशी तुम्हारी

सकल तिथिन की तुम हो रानी, वेद पुराण सबै बखानी

ब्रह्म रूप हो तुम निर्वाणी, दायक हो फल चारी

जय एकादशी तुम्हारी

उत्पन्ना, मोक्षदा स्वरूपा, सफला और पुत्रदा रूपा

नाम षडतिला परम अनूपा, जया नाम अघहारी

जय एकादशी तुम्हारी More...

Art of Living bhajans Krishnam Vande and Nand Nandan by Rishi Nityapragya

कृष्णं वन्दे, परमानंदं वन्देहं

मुरली धरा, कृष्ण तुलसी धरा

मनमोहना आनंद वंदना…

हे गिरधारी वनमाली

यमुना तीर विहारी, हरि…

नंद नंदन, आनंद नंद नंदन, गोविंद नंद नंदन गोपाला…गोपाला

गोपला गोपाला, नारायण हरि गोविंदा

मुकुंद कृष्णः गोविंद, मुरली कृष्णः गोपाला

नंद नंदन, आनंद नंद नंदन, गोविंद नंद नंदन गोपाला…गोपाला

गोविंदा गोविंदा, गोपाला, गोपाला

Gauri Nandan Gajanana, Art of living bhajan by Vikram Hazra

 

गौरी नंदन गजानना, गिरिजा नंदन निरंजना

पार्वती नंदन शुभानना…

पाहि प्रभो, पाहि प्रसन्ना

गौरी नंदन गजानना, गिरिजा नंदन निरंजना

Guru bhajan, Shabad by Hans Raj Hans, Mil mere pritam ji o

मिल मेरे प्रीतम जी ओ, तुद बिन खड़े निमाने

नैनन नींद ना आवे जी

भावे अन्न ना पाणी

पाणी अन्न ना भावे

मरिये हां वे

बिन तिर क्यों सुख पाइये

गुरु आगे करो बिनंती जे गुरु भावे

जो मिल तिने मिलाइये

मिल मेरे प्रीतम जी ओ

मत कोई सज्जण

आपे मेले…

सदा सुहागिन

ना पिर मरे ना जाये

Krishna bhajan, Bhoolu na yaad tumhaari suno Banvari

Krishna bhajan lyrics, Bhoolu na yaad tumhaari suno Banwari

भूलूं ना याद तुम्हारी सुनो बनवारी, कि जिया घबराय रहा रे

मेरे मन में उठी है उमंग रे, होरी खेलूं श्याम तोरे संग रे

श्याम रंग भरी पिचकारी तान मोहे मारी, भिजोय मोरी सारी

कि जिया हर्षाय रहा रे More...

Tag Cloud